Sunday, August 4, 2019

Ped lagao punya milega




पेड़ लगाओ पुन्य मिलेगा

पेड़ लगाओ पूण्य मिलेगा पेड़ धरा का है गहना
अंतिम एक उपाय यही है गर जीवित भी हैं रहना

काट रहे हो वृक्ष देव को आरी और कुल्हाड़ी से
क्यों तुम पहियें तोड़ रहे हो कुदरत की इस गाडी के
यूँ ही कटाई चलती रही तो बाढ़-अकाल पड़े सहना
अंतिम एक उपाय यही…
पेड़ लगाओ पूण्य...

जीवन भर देते ही है ये हमें फूल फल और मेवा
बदले में कभी कुछ ना मांगते ये ही तो हैं भोले देवा
कुदरत का वरदान वृक्ष है तोता से बोली मैना
अंतिम एक उपाय...
पेड़ लगाओ पूण्य…

जो देते हैं हमको जीवन उनका छीन रहे जीवन
कैसे बारिश होगी यहाँ पे धरा पे गर ना बचे ये वन
बिन हरियाली खुशहाली ना दादा दादी का कहना
अंतिम एक उपा…
पेड़ लगाओ पूण्य…

गर धरती से प्यार है हम को हम भी पेड़ लगाएँगे
हम भी लाल हैं इस धरती के सुंदर इसे बनाएंगे
आज से अपने मन मे सावन ये निश्चय तुम कर लेना
अंतिम एक उपाय…
पेड़ लगाओ पूण्य...

सावन चौहान कारौली -एक नादान कलमकार
भिवाड़ी अलवर राजस्थान
मो.9636931534

https://www.writersindia.in/2019/07/save-water-save-future.html

No comments:

मेरे हुजरे में कभी आओ अदब का चाँद रखता हूँ होशलों की दीवारें और छान रखता हूँ सेज मखमल की मुनासिब न हो शायद टूटी खटिया है मगर सम्मान ...