Saturday, July 6, 2019

Save water save future


जल संरक्षण कल संरक्षण

आओ मिल
प्रबंध करे ,

प्रयास चंद करे ।
जल को बचाएंगे तो,
कल को बचाएंगे ।।

जल से है जीवन ,
जल से ही है वन ।
जल ही बचा नहीं तो ,
जी नहीं पाएंगे ।।

रोको बर्बादी ज़रा,
सोच विचार करो,
आज जो ना सोचेंगे,
तो कल पछताएंगे ।

आने वाली नस्लों पे,
थोडा उपकार करो ।
पानी जो ना मिला तो,
वो फूल मुरझाएंगे ।

देखो बूँद बूँद को भी,
आदमी मोहताज है ।
एक दिन हम भी,
मोहताज हो जाएंगे

कैसे बर्बादी करे,
सोया ये समाज है।
अभी जो ना जागे,
वो ही दिन यहाँ आएँगे ।

पानी बिना अन्न नहीं,
खेत उपजाएंगे ।
पेट की ये भूख फिर क्या,
मिटटी से भुजाएंगे ।

सावन चौहान कारौली ...एक छोटा सा कलमकार "जल संरक्षण कल संरक्षण"


https://www.writersindia.in/2019/07/blog-post_18.html?m=1





No comments:

मेरे हुजरे में कभी आओ अदब का चाँद रखता हूँ होशलों की दीवारें और छान रखता हूँ सेज मखमल की मुनासिब न हो शायद टूटी खटिया है मगर सम्मान ...