Monday, July 8, 2019

Pulwama atack


After Pulwama atack



लड़ो ये धर्म युद्ध है
अड़ो ये धर्म युद्ध है -२
बढ़ोssssssss,  ये धर्म युद्ध है।

लड़ो ये धर्म…

ये वक़्त की पुकार है
मानवता तार तार  है
ये भेड़िये खूंखार  है
चढोsssssss ये धर्म युद्ध है।

लड़ो ये धर्म…

धर्म की ध्वजा गाढ़ दो
पापी का सर उखाड़ दो
जमी -- में खोद गाढ दो-२
जो धsssssssर्म, के विरुध है।

लड़ो ये धर्म…

अगुवाई का ये वक़्त है
तु भारती का   भक्त है
हर ओर बिखरा रक्त है-२
जन भाsssssवना,भी क्रुध है।

लड़ो ये धर्म…

हर दैत्य का -- संहार हो
बिल ही पे जाके वार हो
बारूद की ----बौछार हो-२
भारीssssss पड़ा आयुध है।

लड़ो ये धर्म……………………………आगे

सावन चौहान कारोली

No comments:

मेरे हुजरे में कभी आओ अदब का चाँद रखता हूँ होशलों की दीवारें और छान रखता हूँ सेज मखमल की मुनासिब न हो शायद टूटी खटिया है मगर सम्मान ...